Democratic Dictatorship ( 2020 )

Dictatorship In The Name Democracy ?

Democratic government ki power ka source aam janta hoti hai . Isliye representatives ka objective unke interests ko fulfill krna hota hai .  Absolute majority se aayi govt ki policies ka nature democratic na hokr dictatorship wala ho gya prteet hota hai . 

Nature Of Dictatorship 

1 तानाशाह अपनी शक्ति को मतभेदों से ऊपर रखता है।
2 सरकार के सभी भागों पर नियंत्रण
3 सरकार का मीडिया पर नियंत्रण
4 लोगों पर नियंत्रण बनाये रखने के लिए मर्डर , कैद , हिंसा , धमकी तथा मानवाधिकारों का उलंघन
5 व्यक्तित्व पंथ ( personality cult ) को दैवीय स्वरूप प्रदान करना।

Limited Nature Of Media 

भले ही प्रधानमंत्री ” मन की बात ” के ज़रिए लोगों से रूबरू होते है परन्तु इसका क्या लाभ यदि जनता की आवाज़ को ना सुना जाए। आज मीडिया का स्वरूप संकुचित होता जा रहा है , ज़्यादातर न्यूज़ चैनलों पर धर्म के नाम पर राजनीति , अतार्किक मुद्दों पर बहस कर लोगों का ध्यान भटकाने का काम कर रही है। आये दिन पत्रकारों से जुडी हिंसा की खबरें सुनने में आती रहती हैं उदहारण ;- गौरी लंकेश। 

Removal Of Article 370 Unconstitutional 

धारा – 370 का खात्मा करने के पीछे सरकार का उद्देश्य जम्मू और कश्मीर को प्रमाणिक ढंग से भारत का अभिन्न अंग बनाया गया। जिससे कि अब इस क्षेत्र से अन्य राज्यों का सम्पर्क बढ़ेगा तथा विकास की गतिविधियां तेज़ होंगी। परन्तु इसके आलोचकों का मत है कि जिस ढंग से धारा – 370 का खात्मा किया गया वह गलत है , क्योंकि इस प्रक्रिया के समय महबूबा मुफ़्ती समेत कई कश्मीरी राजनेताओं को हिरासत में ले लिया गया , इसके साथ ही संचारव्यवस्था को ठप्प कर दिया गया।

Anti – Government = ” Anti – National “

हमारे देश का माहौल इतना खराब हो चुका है कि सरकार की नीतियों का विरोध करने वाले लोगों को सरकार ” देशद्रोही ” घोषित करने में बिलकुल समय नहीं लगाती। फिर चाहे वह संसद में बैठा विरोधी पक्ष हो या शिक्षा संस्था का कोई विद्यार्थी।

 

 

Hit On The Spirit Of Constitution 

संविधान की भावना ( spirit of the constitution ) का सीधा सा संबंध लोगों की भावनाओं की ओर इशारा करता है। परन्तु सरकार द्वारा CAA     ( 2019 ) , NRC जैसी नीतियां संविधान की विरोधी हैं। भले ही बीजेपी नेता बार बार इन्हें नागरिकता लेने वाला नहीं नागरिकता देने वाला बताती हैं , फिर भी ऐसे कानूनों की देश को फिलहाल कोई ज़रूरत नहीं थी। सरकार क्यों इस बात को नहीं समझती कि हमें डूबती अर्थव्यवस्था से संबंधित कानूनों की ज़रूरत है , नाकि धर्म के नाम पर की जा रही राजनीति की।

 

 

Homogenizing Diversity 

कुछ समय पहले सत्ताधारी सरकार द्वारा देश में हिंदी को राष्ट्रीय भाषा बनाये जाने की बात कही थी। जिस देश को अपनी विविधता पर गर्व है उसी विविधता पर हमला सरकार कर रही है। ऐसे कानूनों ने अल्पसंख्यकों में असुरक्षा ही प्रदान की है इसका देश के विकास में कोई योगदान नहीं होगा।

From Democracy To Tyranny 

Tyranny अर्थ जब सत्ता कुछेक व्यक्तियों के हाथ में हो 

मोदी सरकार भले ही पूर्ण बहुमत से सत्ता में आई है परन्तु इनके द्वारा शक्ति के केन्द्रीकरण की कोशिश की जाती रहती है। अर्थात संसद में बीजेपी का डंका बजाते रहते हैं , तो वही दूसरी ओर देश में हिंदुत्व का शोर मचाते फिरते हैं। जिसका सीधा सा अर्थ यही है कि इनके द्वारा संसद में किसी विरोधी दल को तथा देश में किसी अन्य धर्म को स्वीकार नहीं करते।

 

‘ Democratic Dictatorship ‘ – Shashi Tharoor 

 

पिछले साल दूसरी बार मोदी सरकार के 100  Days  पूरे होने पर शशी थरूर द्वारा सरकार की बुरी कार्यशीलता की आलोचना करने के लिए Democratic Dictatorship की संज्ञा प्रयोग की गई। उनके अनुसार सरकार के कार्यों की स्थिति इतनी बुरी होने के कारण मोदी के नाम की मशहूरी बनी हुई है। सरकार द्वारा आर्थिक मुद्दों के अलावा धार्मिक मुद्दों पर राजनीति , धारा – 370 को हटाने के लिए असंवैधानिक हथकंडों का इस्तेमाल कर नागरिकों को तंग किया जाता रहता है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments

[…] mein unhonein government ko vaccine sabhi ke liye free of cost dene ko kaha […]